आप देख रहे हैं न्यूज़ पोर्टल C भारत न्यूज़ +91 93057 52114
पानी प्लांट और समरसेबल से भी गिर रहा जलस्तर – C भारत न्यूज

C भारत न्यूज

Latest Online Breaking News

पानी प्लांट और समरसेबल से भी गिर रहा जलस्तर

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

जलस्तर गिरा, हैंडपंप दे रहा झटका, मोटर से भी कम आ रहा पानी

पिहानी में लगातार तेज धूप के चलते बढ़ती गर्मी के साथ जलस्तर में गिरावट से कस्बे के सभी मोहल्लों में 80 फीट से ऊपर लगे हैंडपंप सूखने लगे हैं। यहां लोगों के घर में लगे मोटर व समरसेबल से भी कम पानी आ रहा है। वहीं नगर पालिका की तरफ से सिर्फ सुबह-शाम को ही वाटर सप्लाई दी जा रही है। जिस कारण पानी के लिए निजी संसाधनों पर निर्भर लोगों को स्नान व शौच करने, कपड़े साफ करने और बर्तन धुलने के लिए सांसत झेलनी पड़ रही है। रविवार को कस्बे के विभिन्न मोहल्लों की पड़ताल में यह हकीकत सामने आया। पिहानी कस्बे के मोहल्ला कटरा बाजार के दिनेश के घर लगा हैंडपंप सूख गया है, इसमें लगे मोटर से भी पानी नहीं निकल रहा है। उनका कहना है कि हैंडपंप सूखने के कारण सुबह और शाम को नगर पालिका से मिलने वाले वाटर सप्लाई पर ही निर्भर रहते हैं। वहीं छिपटोला निवासी मनोज कुमार ने बताया कि गर्मी के मौसम में मई व जून में उनके घर लगा हैंडपंप सूख जाता है। हैंडपंप से पानी निकलने की जगह झटका लग रहा है। जिससे पानी तो निकलता नहीं है, बल्कि हाथ में चोट लगने का खतरा रहता है। भाटन टोला के शमसुद्दीन कहते है कि गर्मी मौसम में मोहल्ले के कई हैंडपंप सूख जाते है। जिन घरों में 80 से सौ फीट गहराई तक हैंडपंप लगे है, उनमें अभी से पानी निकलना बंद हो गया है।

पानी प्लांट और समरसेबल से भी गिर रहा जलस्तर

कस्बे में विभिन्नस्थानों पर 400 फीट गहराई में बोरिंग कर स्थापित पानी प्लांट और 1000 से अधिक घर में दो सौ व तीन सौ फीट गहराई तक लगे समरसेबल से भी कई मोहल्लों के जलस्तर में गिरावट दर्ज की गई है। इन मोहल्लों के घर में 100 फीट गहराई तक लगे हैंडपंप सूखने से लोगों के सामने पानी का संकट खड़ा हो गया है। जलस्रोत विशेषज्ञ कहते है कि अधिक गहराई तक स्थापित किए पानी प्लांट और समरसेबल से जलस्तर नीचे चला जाता है, जिससे आसपास के हैंडपंप बेपानी हो जाते हैं। अभी और बढ़ेगा जलसंकट मौसम विभाग के अनुसार, इस बार तेज धूप के साथ गर्मी बढ़ेगी, जिसका असर मई, जून और जुलाई तक रहेगा। जलनिगम केमहेश प्रसाद बताते है कि बारिश कम होने और लगातार तेज धूप होने से जलस्तर में गिरावट होती है। अगर लगातार कई दिनों तक तेज धूप रही और बारिश नहीं हुई तो कुछ स्थानों पर जलस्तर नीचे चला जाएगा। मोहल्ले में 80 से सौ फीट गहराई तक के हैंडपंप सूख गए हैं। इससे लोगों को दैनिक क्रिया के लिए जरूरी पानी नहीं होने से बहुत दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

राजकुमार, मिश्राना

नगर पालिका की तरफ से सुबह-शाम वाटर सप्लाई मिल रही है, लेकिन स्नान के साथ कपड़े व बर्तन धुलने के लिए निजी हैंडपंप का सहारा रहता है, जो पानी नहीं उगल रहा है।

-गीता देवी, अंबेडकर नगर

जल संरक्षण की है जरूरत

जलस्रोतों के साथ ही बारिश के पानी का भी संरक्षण जरूरी है। जल संरक्षण नहीं होने से ही जलस्तर में गिरावट हो रही है। लोगों के जागरूक होकर जल संरक्षण करने से ही जल संकट से बचा जा सकता है।

अमित कुमार सिंह ईओ पिहानी

सत्यपाल सिंह

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे.

Donate Now

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
[responsivevoice_button voice="Hindi Male"]